Tuesday, April 16, 2024
HomeHealthHeart Attack: बचना है दिल की बीमारियों से तो, खाने में शामिल...

Heart Attack: बचना है दिल की बीमारियों से तो, खाने में शामिल करें ये फल

Fruits For Heart: जैसा की आप जानते ही होंगे की बिगड़ती हुई लाइफस्टाइल और खान-पान की गलत आदतों की वजह से आज-कल हार्ट अटैक का खतरा किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकता है। इसलिए आज हम हार्ट के मरीज़ो के लिए कुछ ऐसे फलों के नाम बतायेगे जिससे आपका कोलेस्ट्रॉल का लेवल संतुलित रहे, और आपका हार्ट भी सुरक्षित रहे। तो अब हम आपको बताते हैं ऐसे कौन-से फल हैं, जिनका सेवन आपको करना चाहिए।

Heart Problems
Heart Problems

हार्ट के लिए पौष्टिक फल:

हार्ट के मरीजों को अपने खाने पीने का खास ध्यान रखना पड़ता है। क्योंकि गलत डाइट की वजह से दोबारा हार्ट अटैक आने के चांसेस बढ़ जाते है। इसी वजह से डाइट में पर्याप्त सब्जियों और फलो के सेवन पर भी ध्यान दिया जाता है। तो अब हम आपको कुछ ऐसे फलो के नाम बतायेगे, जिससे हार्ट अटैक का खतरा कम होता है और बॉडी में कोलेस्ट्रॉल लेवल संतुलित रहता है।

रसभरी

रसभरी हार्ट के लिए काफी लाभदायक होती है। दरअसल रसभरी खाने से दिल तक खून पहुंचाने वाली नसें अच्छी रहती हैं। यहाँ तक की एक शोध में खुलासा भी हुआ है कि इससे दिल की बीमारी होने का खतरा कम हो जाता है।

बेरजी

जो लोग पहले हार्ट अटैक झेल चुके हैं, उन्हें अपने खाने में नियामित तौर से बेरिज को शामिल करना चाहिए। इसको खाने से दिल सुरक्षित रहता है और यह बैड कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को भी कम करता है। इनके अलावा इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट से तनाव भी कम होता है।

अंगूर

कई हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक हार्ट के मरीज़ो के लिए अंगूर भी फायदेमंद होता है। अंगूर में पॉलीफेनोल और फेनोलिक एसिड काफी अच्छी मात्रा में होते हैं, जिसके चलते बॉडी में कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल रहता है। इसके अलावा इसमें एंटी इंफ्लेमेटरीगुण होते हैं, जो हार्ट को स्वस्थ और मजबूत रखते हैं।

सेब

ऊपर बताये गए फलो के अलावा हार्ट मरीज सेब को भी अपने खाने में शामिल कर सकते हैं। इसको खाने से आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल कंट्रोल में रहता है। यहाँ तक की यह भी माना जाता है कि सेब दिल के रोगियों के लिए रामबाण औषधि है। ऐसे लोग जिन्हें बीपी या हार्ट में ब्लॉकेज जैसी समस्या है, उन्हें रोज एक सेब खाना चाहिए।

यह भी पढ़े:

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य जानकारियों एवं घरेलू नुस्खों पर आधारित है। इसे अपनाने से पहले चिकित्सक की सलाह जरूर लें। Bhagya Vidhata इसकी पुष्टि नहीं करता है।)

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments