उत्तरप्रदेश के मुजफ्फरनगर में इलाज के दौरान एक मरीज की मृत्यु हो गई। जिसके बाद ग्रामीणों ने हंगामा किया। पढ़िए पूरी खबर निचे।

Dead Body
Dead Body

मुजफ्फरनगर, उत्तरप्रदेश। प्राप्त जानकारी के अनुसार मरीज़ की क्लीनिक पर इलाज के दौरान मृत्यु हो गई। इससे गुस्साए ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया। पुलिस ने मौके पर पहुंच कर स्तिथि पर काबू पाया और लोगों को शांत किया।

कस्बे में गढ़ी तिराहे पर एक आयुर्वेदिक पंजीकृत चिकित्सक बहुत समय से प्रैक्टिस करता रहा है। मामला उस वक़्त का है जब दोपहर गांव जटवाड़ा निवासी कासिम (45) पुत्र रफीक सिरदर्द की दवा लेने अपने पुत्र राशिद के साथ क्लीनिक पर पहुंचे थे। जहा डाक्टर ने उसे इंजेक्शन लगा दिया। जिसके बाद परिवारवालों का आरोप है कि इंजेक्शन लगते ही कासिम की तबियत बिगड़ी और उसकी मृत्यु हो गयी।

मृत्यु की जानकारी पर जटवाड़ा गांव से बहुत सारे लोग मौके पर पहुंच गए और हंगामा किया। तब तक चिकित्सक फरार हो गया था। कस्बा चौकी इंचार्ज गजेंद्र सिंह व SSI बीरबल सिंह क्लीनिक पर पहुंचे और और स्तिथि पर काबू किया। लोगों की समझाइस के बाद परिवारवाले बिना कोई कार्रवाई के शव को अपने साथ ले गए। मृतक कासिम के 4 बेटे व 1 बेटी है। पुत्र राशिद ने बताया कि उसके पिता कोल्हू पर मजदूरी करते थे।

युवती से कोलकाता से लखनऊ मिलने पंहुचा युवक, घरवालों ने एयरपोर्ट पर पकड़ कर पीटा

स्वास्थ्य विभाग गंभीर नहीं:

कस्बे में इलाज करने के नाम पर झोलाछाप डॉक्टर की भरमार है। इनसे इलाज करवाने वाले बहुत से लोग जान खो चुके हैं। कुछ ही दिन पहले एक अवैध नर्सिंग होम में प्रसव के दौरान एक महिला की मौत हो गई थी। कस्बे में करीब दर्जनभर अवैध नर्सिंग होम पहले से ही चल रहे है। जबकि यहां एक – दो ही नर्सिंग होम पंजीकृत हैैं।

पढ़िए उत्तर प्रदेश की ताज़ा खबरे, सिर्फ भाग्य विधाता की साइट पर।

Leave a Reply

Your email address will not be published.