News

पुलिस की कार्यवाही पर हंगामा, आरोपी की जगह बेगुनाह को पकड़ा

घटना कुछ ऐसी है की उत्तराखंड पुलिस प्रशासन के सिपाहियों ने चोरी के आरोपी को पकड़ने के लिए ककरौली थाना क्षेत्र के गांव टंडेढ़ा में दबिश दी। परन्तु कुछ गड़बड़ी के चलते पुलिस शिवकुमार पुत्र रामकिशन के बजाए शिवकुमार पुत्र रामपाल के घर पहुंच गई, और उसे पकड़ लिया। बेगुनाह युवक के पकड़े जाने पर हंगामा हो गया। जिसके बाद पुलिस को उनकी गलती का अहसास हुआ और उन्होंने बेगुनाह को छोड़ दिया।

Police

मुजफ्फरनगर, उत्तर प्रदेश। प्राप्त जानकारी के मुताबिल ककरौली थाना क्षेत्र में आरोपी को पकड़ने आई उत्तराखंड पुलिस की एक बड़ी चूक सामने आई है। यहां पुलिस चोरी की वारदात के मामले में आरोपी की खोज में आई थी, और गलती से बेगुनाह को पकड़ लिया। जिसके बाद में पुलिस को अपनी गलती का अहसास हुआ और गिरफ्त में लिए गए युवक को छोड़ दिया।

युवक के स्वजनों ने पुलिस सिपाहियों पर अभद्रता व मारपीट का आरोप लगाया है।

उत्तराखंड पुलिस ने एक चोरी के आरोपी को पकड़ने के लिए ककरौली थाना क्षेत्र के गांव टंडेढ़ा में दबिश दी। लेकिन नाम की गड़बड़ी के चलते पुलिस शिवकुमार पुत्र रामकिशन के बजाए शिवकुमार पुत्र रामपाल के घर पहुंच गई। और बेकसूर को पकड़ लिया। जिसके बाद युवक के पकड़े जाने पर हंगामा हो गया। युवक के परिजनों व अन्य लोगों ने पुलिस का विरोध किया।

पुलिस पर आरोप है कि उन्होंने एक युवक के सिर में पिस्टल का बट मार दिया, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। साथ ही अनेको बार स्वयं को बेगुनाह बताए जाने पर भी पुलिस ने उनकी न सुनी। बाद में थाने जाकर पुलिस को अपनी गलती का अहसास हुआ। जिसके बाद युवक को उसके परिजनों को सौंप दिया गया।

ककरौली थाना प्रभारी सुनील शर्मा ने बताया कि हरिद्वार के थाना बहादराबाद की पुलिस प्रशासन की टीम आई थी। गलत जानकारी के कारण धोखे से बेगुनाह को पकड़ा था। बाद में उसे छोड़ दिया गया।

Share
Published by
Bhagya Vidhata