Sunday, April 14, 2024
HomeCrime Newsपहले मोबाइल पर करती हैं मीठी बातें, मिलने पर लेती है लूट...

पहले मोबाइल पर करती हैं मीठी बातें, मिलने पर लेती है लूट … जानिए पूरी खबर

यह मामला है उत्तरप्रदेश का जिसमे ऐप के माध्यम से पहले दोस्ती, फिर प्यार और फिर प्यार का इजहार, फिर मिलने पर नींद की गोलिया खिलाकर लूट का धंधा करना। हनीट्रैप इन दिनों काफी चर्चित मुद्दों में रहा है। एक ऐसा ही हनीट्रैप का केस नोएडा में आया है। जिसमे 4 ऐसे गिरोहों के सक्रिय होने का मामला सामने आया है।

HoneyTrap News
हनी Trap News

नोएडा में हनीट्रैप गैंग का बढ़ता प्रकोप:

मोबाइल ऐप पर पहले दोस्ती कर एनसीआर के लोगों को हनीट्रैप में फ़साने वाले 4 गिरोह पुलिस की रडार पर हैं। फेज-2 थाना पुलिस ने एक ऐसे ही गिरोह को फरवरी को पकड़ा था। जिसमे शुरुवाती जांच में पता चला कि गिरोह में शामिल सदस्य पूरे एनसीआर में ऑनलाइन मोबाइल ऐप और सोशल मीडिया से लोगों से मिलकर कर ठगी करते हैं।

सिर्फ 500 रुपये के लिए चाकू मारकर की दोस्त की हत्या, जाने पूरा मामला!

गिरोह में शामिल लड़कियां चुने हुए टारगेट को मिलने के लिए होटल में बुलाती थीं। जहां पर चालाकी से वह चंगुल में फसे लोगो को नींद की गोली खिलाकर सुला देती थी। और फिर उसके पास से कैश, मोबाइल व जूलरी लूटकर फरार हो जाती हैं।

नींद की गोली से फैक्ट्री मालिक की हुई थी मौत:

जांच कर रहे पुलिस प्रसाशन के अधिकारियों ने बताया कि यह बदमाश बड़ी ही शातिर तरीके से घटना को अंजाम देते हैं। सामान्य तौर पर डॉक्टर द्वारा नींद की गोली 0.5 एमजी तक ही दी जाती है। लेकिन यह लोग 2 एमजी की 5 से  6 गोलियां खिला देते थे। इसकी वजह से चंगुल में आए लोगों को बहुत खतरा हो जाता है।

गिरोह ने ऐसे ही नासमझी के चक्कर में सेक्टर-82 के रहने वाले एक कैमिकल फैक्ट्री के मालिक को मोबाइल ऐप के जरिये फसाया था। फिर उन्हें सेक्टर-113 के होटल में बुलाकर उन्हें नींद की गोलियां खिला दी, जिसके कारण उनकी मृत्यु हो गई थी।

ब्लैकमेल कर वसूलते हैं रुपये:

पुलिस प्रसाशन के अधिकारियो ने बताया ऑनलाइन मोबाइल ऐप के जरिये लोगों से लूटपाट करने के लिए गिरोह के बदमाश सबसे ज्यादा फेसबुक, टिंडर, वॉट्सऐप, टेलीग्राम, इंस्टाग्राम का प्रयोग करते हैं। गिरोह में शामिल अपराधी सबसे पहले सोशल मीडिया के जरिये लोगों से दोस्ती करते हैं। फिर गिरोह के जालसाज लोगों साथ विडियो कॉलिंग करके उनकी आर्थिक स्तिथि के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर लेते हैं। फिर वह लड़कियों के साथ अश्लील विडियो बनाकर उन्हें ब्लैकमेल कर लाखों रुपये मांग एवं वसूली करते हैं।

लूट के रुपये से महिला ने खरीदा था प्लॉट:

पुलिस के गिरफ्त में आए गिरोह के लोग पिछले एक वर्ष से लोगों को चंगुल में फसाकर लूटपाट कर रहे थे। इन लोगों ने अभी तक 100 से भी ज्यादा लोगों को फसाया था।

पत्नी ने प्रॉपर्टी के लिए प्रेमी के साथ मिलकर की पति की हत्या, जानिए आगे क्या हुआ!

पुलिस द्वारा की गयी जांच में पता चला कि इस लूट में मिले पैसे से एक महिला ने गाजियाबाद में 12 लाख रुपये का एक प्लॉट खरीदा था। जिसको सीज करने में पुलिस लगी हुई है।

जिसके बाद पुलिस द्वारा आम लोगों को इस प्रकार के मामलों में फंसने से बचने के लिए सचेत एवं सावधान रहने की सलाह दी जा रही है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments